[शिकायत] उत्तर प्रदेश जनसुनवाई समाधान Jansunwai portal and app

jansunwai | up jansunwai | jansunwai nic | jansunwai portal | जनसुनवाई | जनसुनवाई शिकायत

जबसे प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने भारत में डिजिटल इंडिया की मुहीम शुरू की है तब से लगभग सभी राज्यों ने अपने राज्य के नागरिको के लिए कोई ना कोई ऑनलाइन सुविधा का उद्घाटन किया है।  jansunwai पोर्टल और ऐप की शुरुआत भी डिजिटल इंडिया की पहल का  ही हिस्सा है, वैसे ही जैसे भारत सरकार ने PM किसान सम्मान निधि की शुरुआत की है।

Jansunwai portal की जरुरत कैसे पड़ी ?

प्रिय पाठको आप सभी में से कोई ना कोई किसी ना किसी सरकारी विभाग के द्वारा आपके काम को लम्बे समय तक लटकाये जाने से दुखी अवस्य होगा।  या फिर आप लोगो में से कुछ तो ऐसे होंगे जो लम्बे समय से सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट काट कर थक चुके होंगे और ये  सोच लिया होगा की आपकी कहीं पर कोई सुनवाई नहीं है।

कई जगहों पर तो आप ने रिस्वत की मोटी  रकम दे कर अपना काम करवाया होगा।

कई बार तो जब आप चक्कर काट काट कर थक चुके होंगे तो आपके सामने एक अँधेरा सा छा गया होगा और सोचते होंगे की अब कहाँ जाये और किससे शिकायत करे। कैसे अपने काम को सही समय पर करवाया जाये।

आप  लोगो को अब ये जानकर बहुत ख़ुशी होगी की अब आप की यह दुविधा जल्दी ही समाप्त होने वाली है।  अब आपको  अपने सरकारी काम काज करवाने के लिए किसी के तलवे चाटने की जरूरत नहीं है और ना ही भारी भरकम रिस्वत देने की जरूरत है।

जी हाँ।  उत्तर प्रदेश सरकार ने अब एक  ऐसी सुविधा का उद्धघाटन किया है जिसको आप घर बैठकर  भी इस्तेमाल कर सकते है।  सरकार द्वारा चलाये गए UP jansunwai योजना के तहत अब आप अपनी लगभग सभी सरकारी विभागों से सम्बंधित  समस्याओं का समाधान घर बैठे ही ढूंढ सकते है।  इस लेख को अंत तक पड़ते जाइये आप को सभी जानकारिया स्वतः ही मिलती जाएँगी ।

क्या आप भी उत्तर प्रदेश में रहते है? क्या आप  भी सरकारी दफ्तरों या फिर सरकारी कर्मचारियों से या उनके द्वारा किये जाने वाले भरस्टाचार से तंग आ चुके है और नहीं जानते की उनकी शिकायत कहाँ पर की जा सकती है। तो फिर आपके लिए एक खुसखबरी है।  उत्तर प्रदेश सरकार ने ऐसी समस्याओ के लिए एक पोर्टल शुरू किया है और उस पोर्टल का नाम है – jansunwai जनसुनवाई।  जी हाँ अब हर एक व्यक्ति इस पोर्टल का इस्तेमाल कर सकता है।

IGRSUP jansunwai जनसुनवाई पोर्टल क्या है ?

Jansunwai portal उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया एक ऐसा मंच है जहाँ पर आम कोई भी व्यक्ति  अपनी कोई भी सरकारी विभागों से सम्बंधित शिकायत ऑनलाइन  दर्ज करा सकता  है।

इस पोर्टल की सुविधा उत्तर प्रदेश सरकार ने स्थानीय निवासियों के लिए मुहैया कराई है।

आप लोगो को यह जान कर बहुत ख़ुशी होगी की अब किसी भी विभाग के प्रति अगर आपको कोई शिकायत है तो उस शिकायत को दर्ज कराने के लिए इधर उधर भटकना नहीं पड़ेगा अब आप अपनी शिकायत घर बैठे – बैठे भी दर्ज करा सकते है और उसका स्टेटस भी जान सकते है।  जी हां,  जनसुनवाई पोर्टल आपके लिए यह काम करने वाला है। 

जनसुनवाई पोर्टल उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उठाया गया एक सराहनीय कदम है।  इस पोर्टल के द्वारा स्थानीय लोगो और सरकारी कार्यालयों के बीच पारदर्शिता कायम होगी।  यह पोर्टल रिस्वतखोरी और घूसखोरी को राज्य से मिटने में एक मिल का पत्थर साबित होगा।

उत्तर प्रदेश एक बड़ा राज्य होने के साथ साथ यहाँ की जनसँख्या अधिक है।  जिस राज्य में जनसँख्या ज्यादा होती है तो वहां पर अपराध बढ़ने के चांसेज़ ज्यादा होते है।  क्रप्शन और घूसखोरी पर निजात पाने के लिए jansunwai  जैसे पोर्टल का लांच करना  उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उठाया गया एक सराहनीय कदम है, ऐसे ही जैसे हरियाणा सरकार ने सरल हरियाणा को शुरू करके एक सराहनीय काम किया है।

इस ऑनलाइन पोर्टल के द्वारा अमीर, गरीब , छोटा बड़ा कोई भी व्यक्ति किसी सरकारी महकमे के प्रति अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है।  ऐसे व्यक्ति जिनके काम सरकारी दफ्तरों में अटके पड़े है और उनकी कोई सुनवाई नहीं होती है वो लोग ऑनलाइन इस पोर्टल पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है। 

आप लोगो को इस पोर्टल के बारे में जान कर हैरानी होगी की इसमें न केवल शिकायत दर्ज करा सकते है बल्कि आपकी शिकायत का स्टेटस क्या है उसे भी जान सकते है।

UP Jansunwai 2020 का उद्देश्य

सूचना तकनीक का इस्तेमाल करके पुराने  और भ्रष्ट प्रशासन की छवि को सुधारना।

लोगो को प्रशासनिक कार्यो में होने वाली परेशानियो को दूर करना।

ई -संवाद के द्वारा जनता की शिकायतों के निवारण का प्रयास।

जनता और प्रशासनिक कार्यालयों में एक पारदर्शी संवाद स्थापित करना।

राज्य के नागरिको को  किसी भी समय ऑनलाइन अपनी शिकायत दर्ज करने की सुविधा।

राज्य का नागरिक किसी भी समय अपनी शिकायत के विषय के बारे में या उनकी शिकायत पर कहाँ कहाँ अमल हुआ है , के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

अलग – अलग माध्यमों से या जगहों से दज की गई शिकायते अब एक ही मंच पर उपलब्ध होंगी।

सरकारी अधिकारियो को शिकायतों के निवारण करने में आसानी होगी।

jansunwai पोर्टल मुख्यमंत्री कार्यालय के अधीन काम करता है

इस पोर्टल के तहत आप किसी भी कार्यालय के प्रति शिकायत दर्ज करा  सकते है चाहे वह जिला अधिकारी  कार्यालय हो  , चाहे पुलिस डिपार्टमेंट  हो, सिक्षा डिपार्टमेंट हो या फिर  जिला आपूर्ति डिपार्टमेंट हो।

आप अपनी शिकायत के समाधान का फीडबैक भी भेज सकते हैं।

UP Jansunwai पोर्टल कौन कौन सी शिकायते जनसुनवाई पोर्टल के तहत स्वीकार नहीं की जाएँगी।

कुछ मामलो के लिए आप इस पोर्टल पर अपनी शिकायत दर्ज नहीं करा सकते हैं

जैसे की :-

ऐसे मामले जो सूचना के अधिकार से सम्बंधित हैं।

ऐसे मामले जो माननीय न्यायालय के अधीन विचाराधीन हैं।

आप इस पोर्टल पर किसी तरह का सुझाव नहीं दे सकते।

आप इस पोर्टल पर किसी तरह की आर्थिक सहायता के लिए या नौकरी की मांग नहीं रख सकते।

सरकारी सेवको के सेवा सम्बंधित प्रकरण (Service related matters of government servants until they have used the options available in the department) जब तक की उन्होंने विभाग में उपलब्ध विकल्पों का उपयोग ना कर लिया हो।

जनसुनवाई पोर्टल पर अपनी शिकायत के लिए रिमाइंडर कैसे डालें

जनसुनवाई पोर्टल पर फीडबैक देने की प्रक्रिया

जनसुनवाई पोर्टल के लिए APP कैसे डाउनलोड करें

jansunwai App को मोबाइल में इंस्टॉल  करने की प्रक्रिया।

सबसे पहले हमें गूगल प्ले स्टोर में जाकर jansunwai UP ऐप को सर्च करना है।Or (jansunwai.up.nic.in)

उसके बाद आपको यह एप्लीकेशन अपने मोबाइल में इनस्टॉल करनी है।

यह एप्लीकेशन इनस्टॉल करने के लिए यह कुछ परमिशन आपसे मांगेगा।

आपको वो परमिशन दे देनी है

jansunwai-image-2

जैसे की यह ऐप इनस्टॉल करते वक्त आपसे आपका नाम, आपके पिता का नाम, और ईमेल एड्रेस ऑप्शनल है आप चाहे तो  ईमेल दे सकते है और अगर ना देना चाहे तो इसे हटा दे।

jansunwai-image-3

इसके बाद यह ऐप अपने आप ही आपका मोबाइल Number फेच कर लेगा।

सारी  डिटेल डालने के बाद यह ऐप आपके रजिस्टर्ड मोबाइल पर एक OTP भेजेगा। यह OTP आने में 5 से 7 मिनट का समय लगता है।  अगर 5 मिनट तक OTP नहीं आता है तो आप इसे दोबारा से जेनेरेट कर सकते है।

jansunwai-image-4

OTP आपको OTP वाली जगह पर डालना है और सबमिट का बटन दबा देना है।

जैसे ही आप सबमिट का बटन दबाते है उसके बाद ये App आपसे भाषा का चयन करने का ऑप्शन देगा।  यानि आप इस ऐप को अंग्रेजी भाषा का इस्तेमाल करना चाहते है या फिर हिंदी भाषा का।

jansunwai-image-5

भाषा का चयन करने के बाद यह ऐप आपसे एक परमिशन मांगेगा और आपको यहाँ पर allow  का बटन दबा कर परमिशन दे देनी है।

jansunwai-image-6

अगर आपसे भाषा चुनने में कोई गलती हो गई है तो आप इसको बाद में भी ठीक कर सकते हैं। 

jansunwai-image-7

यह ठीक करने के लिए आपको दाई तरफ में तीन डॉट्स नजर आएंगे वहां पर क्लिक करने के बाद भाषा के ठीक करने का ऑप्शन खुल जायेगा।

जनसुनवाई पोर्टल पर ऑनलाइन शिकायत कैसे दर्ज कराएं।

जैसे ही आप jansunwai ऐप के अंदर एंटर कर पाएंगे आपको निमिन्लिखित विकल्प नजर आएंगे।

शिकायत पंजीकरण (Register grievance)

शिकायत की स्थिति देखें (Track Grievance)

अनुस्मारक भेजे।  (Send Reminder)

निस्तारण पर फीडबैक दे ( Feedback of Disposal)

उपयोगकर्ता विवरण संशोदन  (User Discription Modification)

jansunwai-image-8

 जैसे ही आप शिकायत पंजीकरण पर क्लिक करेंगे तो आपसे सन्दर्भ का प्रकार पूछा जायेगा यानि की आपकी शिकायत किस टाइप की है ये पुछा जायेगा। 

आपका सन्दर्भ कोई शिकायत है , सलाह है या कोई और सन्दर्भ है।

अगर आप सामूहिक तौर पर (यानि किसी NGO  वगैरहा) के तो पर  शिकायत दर्ज करना चाहते है तो सामूहिक वाले ऑप्शन को सेलेक्ट करें। 

आपका नाम , आपके पिता का नाम और आपका मोबाइल नंबर आटोमेटिक इसमें भर जायेगा क्योंकि आप ने यहाँ ऐप रजिस्टर करते वक्त यह डिटेल दी थी।

आपको अपना सेक्स यानि महिला या पुरुष सेलेक्ट करना है , अपना क्षेत्र सेलेक्ट करना है , जनपद, तहसील, ब्लॉक और ग्राम पंचायत को ऐड करना है।

इसके बाद “आगे बड़े ” बटन को दबाना है।  इस प्रकार यह App आपके द्वारा डाला गया एड्रेस अपने आप ही सेव कर लेगा और जैसे ही अगले पेज पर आगे बढ़ेंगे तो शिकायत खेत्र का पता या फिर  उस क्षेत्र का पता जहाँ पे आप शिकायत दर्ज करा रहे है के बारे में मांगेगा , अगर यह पता पहले भरा हुआ पता और शिकायत क्षेत्र का पता एक जैसा है तो आप  “उपरोक्त” वाले ऑप्शन को टिक करेंगे।

jansunwai-image-9

नहीं तो आपको अलग से पता भरना पड़ेगा।

इसके बाद आपके आवदेन का विवरण पूछा जायेगा।  आप 3500 शब्दों में यहाँ अपने आवेदन का विवरण डाल सकते है।  कई बार अगर आपने  यह विवरण पहले से लिखा हुआ है तो आप इसे कॉपी पेस्ट भी यहाँ पर कर सकते हैं।

यहाँ पर ध्यान रखने वाली यह बात है की अगर जिले से सम्बंधित कोई शिकायत है तो आप जिलाधिकारी को भेज सकते है।

पुलिस अधीक्षक यानि पुलिस का बड़ा अधिकारी होता है अगर आपकी शिकायत उसके लेवल की है तो आप पुलिस अधीक्षक को भेज सकते है।

jansunwai-image-10

नगर निगम या नगर पालिका से सम्बंधित शिकायत आप नगर निगम में दर्ज करा सकते हैं।

विकास प्राधिकरण से सम्बंधित  शिकायत आप विकास प्राधिकरण में दर्ज करा सकते हैं।

अगर आपके शिकायत की सुनवाई जिले के  स्तर पर नहीं हुई है तो आप मंडलायुक्त के स्तर पर  भेज सकते हैं।

इसके आलावा पुलिस उपमहानिरक्षक , पुलिस महा निरीक्षक , विशवविधालय या फिर निदेशक और विभागाध्यक्ष के स्तर पर भी अपनी शिकायत भेज सकते हैं।

उदहारण के तौर पे अगर आप शासन के स्तर पे शिकायत दर्ज करा रहे हो तो और आपको शिकायत करनी है अतिरिक्त ऊर्जा के विभाग के खिलाफ तो इसमें आपको विभाग चुनने के बाद श्रेणी को चुनना है और अगर जो शिकायत आप करना चाहते है उसकी श्रेणी यहाँ पर मौजूद नहीं है तो आप को अन्य प्रकरण पर जा कर अपना प्रकरण दर्ज करा  सकते है।

jansunwai-image-11

सब कुछ डिटेल्स भरने के बाद “संदर्ब को सुरक्षित करने ” वाले बटन पे क्लिक करना है।  इस बटन पर क्लिक करते ही आपकी शिकायत दर्ज हो जाती है और एक शिकायत नंबर आपको मिल जाता है और उस शिकायत की कॉपी आप अपने मोबाइल में सेव कर सकते हैं। 

जब दोबारा से आप इस एप्लीकेशन की होम स्क्रीन पर जायेंगे तो वहां जा कर आप अपनी शिकायत की स्थिति को चैक  कर सकते हैं। 

दोस्तों आप इस एप्लीकेशन के जरिये शिकायत किसी भी लेवल तक पहुंचा सकते है।  सरकार का उद्देशय है की आपकी शिकायत का 30 दिन में निवारण मिले।

अगर आपको निर्धारित समय में या फिर उचित निवारण नहीं मिलता है तो आप इसका फीडबैक दे सकते हैं।  इसके आलावा आप इस अप्लीकेशन में अपनी शिकायत के लिए रिमाइंडर भी भेज सकते हैं। रिमाइंडर भेजने के बाद आपकी शिकायत पुनः ओपन हो जाएगी और दोबारा से सुनवाई हो जाएगी।

दोस्तों  एप्लीकेशन सभी के लिए बहुत ही लाभदायक है और आप सभी को इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

Jansunwai पोर्टल से लॉक डाउन के समय मिला मजदूरों को फायदा

जनसुनवाई पोर्टल जब से लांच हुआ है तब से ये एप्लीकेशन बहुत ही कारगर साबित  हुई है।  यह पोर्टल कोरोना काल में लॉक डाउन के समय में उत्तर प्रदेश से बहार फंसे मजदूरों को वापिस उत्तर प्रदेश लाने  में बहुत ही मददगार साबित हुआ है। लाखो महदूरो ने इस पोर्टल पर वापिस उत्तर प्रदेश आने के लिए रजिस्ट्रेशन किया और इसके विपरीत ऐसे ही लाखो मजदूरों ने अन्य राज्यों में जाने के लिए इस पोर्टल की सेवाओं का फायदा उठाया। 

उत्तर प्रदेश से अन्य राज्य जाने हेतु प्रवासी पंजीकरण / अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश आने हेतु प्रवासी पंजीकरण

हम इस पोस्ट में बताएँगे की अगर आप किसी और स्टेट से सम्बन्ध रखते है और आप उत्तर प्रदेश में फंसे हुए है तो आप अपना रजिस्ट्रेशन कैसे करेंगे।

इसके लिए वेबसाइट है jansunwai.up.nic.in . जैसे की हम पहले ही बता चुके है की आप गूगल पे jansunwai लिखते है या स्पीकर पे बोलते है तो आपके सामने ये वेबसाइट आ जाएगी।  आपको इस वेबसाइट के लिंक पे क्लिक करना है। 

प्रवासी पंजीकरण  करने हेतु आपको “प्रवासी पंजीकरण ” वाले लिंक पे क्लिक करना होगा।

parvasi-panjikaran

उसके बाद ये पंजीकरण करने हेतु आपसे आपका मोबाइल नंबर, आपका ईमेल एड्रेस मांगेगा, यहाँ पर केवल मोबाइल नंबर ही डालोगे तो चलेगा।  ये दोनों चीजे डालने के बाद आपको दाई तरफ दिया गया कैप्चा इस जगह पर डालना है।

parvasi-panjikaran-image

इसके बाद OTP भेजे जाने वाले ऑप्शन पे क्लिक कर देना है।  इसके बाद आप ने जो मोबाइल नंबर यहाँ पे डाला है उस पर एक OTP चला जायेगा , वो OTP  आपने  यहाँ पर डालना है और एंटर कर देना है।

इसके बाद आपको सबमिट वाले बटन पे क्लिक कर देना है , क्लिक करते ही आपके सामने समाधान एंट्री वाला एक पेज आपके सामने खुल जायेगा यह पेज कुछ इस प्रकार होगा।

parvasi-panjikaran-image2

यहाँ पे सबसे पहले आपको यात्री की श्रेणी चुननी  है।  यानि यात्री जो आवदेन कर रहा है  किस प्रकार का है।

श्रमिक यानि मजदूर

स्टूडेंट यानि छात्र

pilgrim यानि तीर्थयात्री

traveler यानि पर्यटक

यहाँ से कोई भी एक केटेगरी चुनने के  बाद आपको अपना नाम लिखना है उसके बाद अपनी आयु लिखनी है, उसके बाद लिंग चुनना है यानि  आप महिला है या पुरुष है या कोई अन्य ये लिखना है।

मोबाइल नंबर पहले से आ जायेगा , इसके बाद अपना पहचापत्र डालना है।

इसके बाद निचे एक ऑप्शन है जिसमे आपसे पूछा गया है की आप अकेले ही है या आपके साथ आपका परिवार भी है।

अगर आप अकेले नहीं है तो आपको लिखना होगा की आप कितने लोग है। इसके बाद आपको उन लोगो का नाम आयु और आपके साथ उनका सम्बन्ध लिखना होगा।

parvasi-panjikaran-image3

इसके बाद आपको यात्रा का माध्यम लिखना है अगर आपके पास आपका अपना वाहन है तो, वाहन पे क्लिक कर दे  या फिर आप यात्रा के लिए सरकार से अनुरोध कर रहे है तो दुसरे ऑप्शन पे क्लिक कर दीजियेगा।

इसके बाद आपसे वर्तमान में कहाँ पर रह रहे है उसका पता पुछा जायेगा।  और उसके बाद आप किस राज्य में जाना चाहते है उसका नाम , जिले का नाम और पूरा पता पूछा जायेगा।  इसके बाद जहाँ आप जाना चाहते है वहां के किसी एक व्यक्ति का कांटेक्ट  नंबर यहाँ पर डालना होगा।

इसके बाद निचे कुछ ऑप्शन आएंगे आपको  इन सभी डिक्लेरेशन  ऑप्शन पे क्लिक करना होगा और अंत में सन्दर्भ सुरक्षित करे वाले बटन पे क्लिक करें।

इसके बाद एक रजिस्ट्रेशन संख्या आपके मोबाइल पर आ जायेगा , भविष्य में इस्तेमाल करने के लिए आप  इस नंबर को कहीं पे नोट कर ले या फिर मोबाइल में सेव कर ले।

अब आपका रजिस्ट्रेशन सफलतापूर्वक हो गया है।

Jansunwaiपोर्टल पर शिकायत का स्टेटस  कैसे जाने 

UP jansunwai पोर्टल पर अगर आप ने कोई शिकायत पंजीकरण की है तो उसके बारे में कैसे जान पाएंगे की आपकी शिकायत का क्या हुआ।

क्या आपकी शिकायत पर कोई सुनवाई हुई है या नहीं।  जी हाँ।  आज हम इसी के बारे में बताने वाले है की जनसुनवाई पोर्टल पे अपनी शिकायत का स्टेटस कैसे जाने ?

शिकायत का स्टेटस जानने के लिए सिंपल “शिकायत की स्थिति ” वाले बटन पर क्लिक करें।

jansunwai status-check-page1

क्लिक करने के बाद कुछ ऐसा इंटरफ़ेस खुलेगा जिसमे आपने अपना शिकायत पंजीकरण नंबर डालना है जो आप को शिकायत करते वक्त आपको मिला  होगा। यह पंजीकरण नंबर आपके मोबाइल पर मैसेज के द्वारा भी आया होगा।

उसके बाद आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है।  इसके बाद आपको निचे एक कैप्चा नजर आएगा आपको उस कैप्चा को  खाली जगह पर डालना होगा।

jansunwai status-check-page2

इसके बाद आपको सबमिट वाली बटन पर क्लिक कर देना है।

जैसे ही आप सबमिट पर क्लिक करेंगे आपके सामने पूरी डिटेल्स खुल जाएँगी।  जिसमे पंजीकरण नंबर, शिकायतकर्ताओ का नाम , शिकायत श्रेणी और विभाग का नाम ये सभी डिटेल आ जाएगी।

सबसे निचे देखेंगे की एक स्पेशल नोट लिखकर आपकी शिकायत के बारे में लिए गए निर्णय के बारे में पूरी जानकारी मिल पायेगी  

उत्तर प्रदेश IGRS jansunwai portal पर मिलने वाली सुविधाएं ।

नई शिकायत का पंजीकरण।

पुरानी शिकायत का स्टेटस जानना।

शिकायत का समय पर निवारण न होने पर रिमाइंडर की सुविधा।

30 दिन के अंदर शिकायत के निवारण का लक्ष्य।

शिकायत निस्तारण के बाद फीडबैक देने का ऑप्शन।

प्रवासी मजदूरों के लिए घर वापसी के लिए पंजीकरण

अन्य राज्यों के मजदूरों के लिए वापसी जाने के लिए पंजीकरण

3 thoughts on “[शिकायत] उत्तर प्रदेश जनसुनवाई समाधान Jansunwai portal and app”

Leave a Comment